>फिर दामादों के स्वागत में जुटी सरकार ………

>मुंबई पर फिदायीन हमले के दौरान हमारी सरकार को एक नए दामाद मिले , जिन्हें आदर पूर्वक ससम्मान जेल विभाग तक पहुचाने में लगी है शिवराज जी की टीम । अजी चोकिये मत ऐसा ही हुआ है !सैकडो मासूमों के हत्यारे इन नर पिशाचो को मेहमान बना कर रखा जाएगा। भविष्य में या तो अदालत की तारीखों से गुजरते- गुजरते मर जायेंगे या फिर कोई विमान हाइजैक कर इन्हे ले उडेगा । अथवा आवश्यक हुआ तो ये लोग इनकी अर्जी भी महामहिम राष्ट्रपति तक पंहुचा ही देंगे । वैसे भी आप सोच रहे है इसमे नया क्या है , ये तो होता ही आया है । यहाँ सवाल हमारी सुरक्षा प्रणाली , न्याय प्रणाली तथा विदेश नीतिके निर्धारण से जुदा है। विश्व के सबसे बड़े जनतंत्र की न्याय प्रक्रिया इतनी धीमी और भ्रष्ट हो चुकी है कि अक्सर ऐसे आतकी छुट जाते हैं । केवल हवा हवाई दावे करने से परिस्थितियां नही बदलती है , परन्तु ये बात इन कांग्रेस्सियो को कब समझ में आएगी ? दरअसल हमारी शासन प्रणाली ही ऐसी है भ्रष्टो और दलालों की पूरी टीम संसद में पहुचती है । हर मसले में राजनीतिज्ञों की कमजोर इच्छाशक्ति और सत्ता लोलुप प्रवृतिया ही जिम्मेदार है ।सत्ता बदलते ही नियम -कानून सब बदल जाते है । बदल जाते है किताबों के पाठ्यक्रम भी । ये भी नया ,अनूठा नही है । आजादी के बाद जब भी जरुरत हुई राजनितिक स्वार्थो की पूर्ति तू संविधान की धाराओं में परिवर्तन होता रहा है । शाहबानो प्रकरण इसका प्रयाप्त नमूना है । अपने अपने वोट बैंक की खातिर “तुष्टिकरण” की राजनीती आजकल चलन में है। भविष्य में अफजल गुरु जैसे आतंकियों को बचाने के लिए भी कोई कानून बदला जाए तो कोई आश्चर्य नही । आतंकवाद को धर्म के नाम पर बाटने की शाजिस कामयाब होती दिख रही है । बतला हाउस और मालेगांव को लेकर इन राजनीतिको के दोहरे मापदंड ने आने वाले समय की दुर्दशा का अंदाजा दे दिया है । बहरहाल, इतना कुछ होने पर भी हम खामोश है और गृह mantri जी इस बात के लिए बधाई दे रहे है । ये चुप्पी हमें ले डूबेगी । किसी ने क्या खूब कहा था “ये खामोश मिजाजी तुम्हे जीने नही देगी , जिन्दा रहना है तो ज़माने में कोहराम मचा दो”।

1 Comment

  1. APNA MANCH said,

    November 30, 2008 at 5:40 pm

    >bhai, 9 daamad to maare gaye hain. ek hi daamad to jinda bacha hai….kyun sahi hai na?aapke blog se kaafi ummed hai.


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: