>मुंबई हमले से अब तक बस राजनीती ..राजनीती और बस राजनीती………..

>साल ०८ बीतने जा रहा है । इस अवसान काल के दौरान आम तौर पर लोग मस्ती में डूबे होते थे। पर ये साल तो मनहूसियत भरा रहा , देश के विभिन्न हिस्सों में धमाके और अंत में मुंबई का आतंकी तांडव हमारे जेहन से निकलना कुछ आसन नही । एक महीने बीत चुके हैं फिर भी अख़बार ,टीवी , इन्टरनेट सब जगह यही मुद्दा छाया है। मैं तो परेशान हूँ इन जिम्मेदार पत्रकारों से । अरे जब समाज को सच दिखने वाला ही सच्चाई और असल मुद्दे से भटक जाए तो क्या होगा? आतंकियों का क्या हुआ ये सबको पता है और पकिस्तान का क्या होगा या भी। दरअसल , ye sara natak शासन में बैठे सत्ता के दलालों ka चुनावी समय में जनता का ध्यान batne ki yojna hai. मीडिया भी अपने आर्थिक हितों के कारन जमकर उनका साथ दे रही है। देश की जनता को सब कुछ इस तरह दिखाया जा रहा की युद्ध होने ही वाला है । एक बार फिर राष्ट्रवाद की भावना भड़का कर वोटो के चूल्हे पर कुर्सी की खीर पकाने की कवायद जारी है। अपने शासनकाल आतकवाद और आंतरिक सुरक्षा को लेकर बेक फुट पर खड़ी कोंग्रेस अन्तिम समय में आतक के विरुद्ध कड़ा रुख रखने का दिखावा कर रही है। साथ ही वैश्विक आर्थिक मंदी के इस दौर में भारत को हुए आर्थिक नुक्सान से देश का ध्यान हटाने में भी कामयाब हो रही है।

2 Comments

  1. hempandey said,

    December 29, 2008 at 4:40 pm

    >यह कहना गलत होगा कि कांग्रेस सरकार आतंकवाद के ख़िलाफ़ कुछ नहीं कर रही है. वह लगातार पाकिस्तान को सबूत पेश करती आ रही है. हा हा हा !

  2. December 31, 2008 at 2:17 pm

    >कुछ ही पलों में आने वाला नया साल आप सभी के लिएसुखदायकधनवर्धकस्‍वास्‍थ्‍वर्धकमंगलमयऔर प्रगतिशील होयही हमारी भगवान से प्रार्थना है


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: