पालने से पालकी तक

“पालने से पालकी तक बेटियों का सुदृढ़ जीवन सफल जीवन “

पालने और पालकी को

सजाने की

समझ जो है – “बेहतर है….!”

ज़िन्दगी बेटियों की

भी संवारी जाए तो अच्छा !!

पालने में दुलारो खूब

बिटिया को “बेहतर है….!”

ज्ञान-साहस से सजी बिटिया

बिदा की जाए तो अच्छा ..

4 Comments

  1. संगीता पुरी said,

    January 26, 2009 at 7:10 am

    बहुत सुंदर…. गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं…!

  2. Anonymous said,

    January 26, 2009 at 1:01 pm

    uttam abhivyakti

  3. गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" said,

    January 26, 2009 at 2:04 pm

    गणतंत्र की जय हो .
    गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

  4. राज भाटिय़ा said,

    January 26, 2009 at 4:25 pm

    बहुत सुंदर,
    आप को गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाऐं.


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: