>उनको क्या …………

>

उम्मीद लगाये खड़े है

जग सारा यहाँ ,

पर उन्हें क्या फ़िक्र है

वो तो अपने दफ्तरों में बैठे ,

प्राइवेट क्लीनिक की सोच में डूबे हैं ।

लोग-बाग़ आ रहे हैं

चिल्ला रहे हैं ,

एक दुसरे पर अपनी खीज उतार रहे हैं ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: