>क्यों नहीं एक सम्मान मोहम्मद कैरान्वी को भी दिया जाए ?

>

संवाद सम्मान 2009 के ‘नवोदित श्रेणी’ के विजेता ब्लॉगर ‘सलीम ख़ान‘ 
खबर अच्छी है कम से कम अब सलीम खान कुछ लिखने से पहले अतिरिक्त  जिम्मेदारी तो महसूस करेंगे . वैसे पता चला कि आजकल वो विज्ञान लेखन की ओर ध्यान दे रहे हैं तो यह ख़ुशी की बात है . ब्लॉगजगत में सलीम खान को लेकर चली लम्बी बहस का नतीजा ठीक निकलेगा ऐसी उम्मीद है . और सलीम खान जैसे अनन्य लोगों से भी चाहे वो किसी भी मजहब के हों , एक उम्मीद तो जगी हीं है कि अपने धर्म को औरों से बेहतर बताने का तर्क ढूंढने के बजाय सामाजिक सरोकारों की ओर ध्यान दीजिये . विज्ञान ,साहित्य, राजनीति,अध्यात्म आदि पर आधारित लेखन आप को चिरकाल तक अमर बना सकता है . विज्ञान पर हिंदी में लेखन करने वालों को बहुत=बहुत शुभकामनाएं ! किसी भी क्षेत्र के ज्ञान  की बातें हिंदी में ज्यादा से ज्यादा लिखी जाए  , यह हिंदी के साथ-साथ भारत की आम जनता के लिए अच्छा है जिन्हें आज़ादी के साथ सालों बाद भी अंग्रेजी की धौंस दिखा कर कोई भी बहला देता  है . हिंदी में हर वो चीज उपलब्ध हो ऐसा हम ब्लोगर लोगों को संकल्प मान कर चलना चाहिए .  
लते-चलते एक ख्याल मन में आया क्यों नहीं ऐसा हीं एक सम्मान मोहम्मद कैरान्वी को भी दिया जाए हो सकता है वो भी धर्म की महानता  को छोड़ कर गीत-गज़ल लिखने लग जाएँ !
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: