1 रुपये व 5 रुपये के सिक्के पर संत अल्फ़ोन्सा कि तसवीर क्यो ?

यहा पर मे आप को इन्डोनेशीया कि सरकार का नोट दिखा रहा हु। जहा पर इन्डोनेशीया कि सरकार के द्वारा अपने यहा के सरकारी नोट पर गणेशजी महाराज का चित्र छापा गया हे । क्योकि वहा के लोगो के जिवन यापन के तरिके मे व हम हिन्दुस्थान के वासियो के रहने के तरिके मे कई प्रकार कि समानता हे।


अब मे आप को इस देश कि तथाकथित धर्मनिरपेक्ष वादी सरकार का एक धर्मनिर्पेक्ष चेहरा दिखा रहा हु………………R.B.I. ने केन्द्र कि इस तथाकथित धर्मनिरपेक्ष वादी सरकार के कहने से 1 रुपये 5 रुपये के सिक्के के उपर संत अल्फ़ोन्सा के जन्म के 100 साल पुरे होने पर उनकि तसवीर छापी हे । यह सब कुछ केवल हिन्दुस्थान मे हि हो सकता हे । क्या आप कभी कल्पना कर सकते हे कि कभि वेटिकन या इटली कि सरकार हमारे किसी देवी देवता की या हमारे यहा पेदा हुए शुरविरो मे से किसि एक का भी चित्र अपने यहा के सरकारी नोट मे छापेगि । यह हमारे लिये बहुत ही शर्म कि बात हे उससे भि बडे शर्म कि बात तो यह हे कि हमारे यहा कि सरकार को इस बात का कोइ दुख नही हे।
अत: मे विवेक साखलाँ आप सभी हिन्दुस्थान के वासियो से प्रार्थना करता हु कि इस प्रकार कि षड्यंत्रकारि राष्ट्र विरोधि योजनाओ का विरोध पुरी ताकत से करे ।

Advertisements

9 Comments

  1. माधव said,

    June 16, 2010 at 12:59 pm

    who cares it?

  2. Mired Mirage said,

    June 16, 2010 at 1:09 pm

    गणेश जी यहाँ नहीं विराजमान हो सकते। उनके होने से कितनों की भावनाओं को ठेस लगेगी!घुघूती बासूती

  3. June 16, 2010 at 1:35 pm

    हिन्दुत्व को नकारना ही इस देश में सच्ची धर्मनिरपेक्षता है…

  4. June 16, 2010 at 3:41 pm

    अल्फ़ोंसा के तथाकथित चमत्कार अभी प्रमाणित नहीं हुए हैं…। जिस प्रकार मदर टेरेसा को संदिग्ध रूप से संत घोषित किया था, वही मामला है। समूचे यूरोप में जब चर्च यौन दुराचार के दलदल में फ़ँसा है तब उसे भारत की अशिक्षित और भोली जनता से बड़ी "उम्मीदें" हैं।

  5. June 16, 2010 at 5:12 pm

    हिन्दू गूंगे बहरे बने हैं या बनने का दिखावा कर रहे हैं>..

  6. June 17, 2010 at 8:57 am

    ye kamine gandhi parivar vale desh ko bech kar rahenge! sale visedhiyon ke hathon pahale ghar becha ab desh bech rahe hain!

  7. June 17, 2010 at 9:08 am

    भारत का तथाकथित 'धर्मनिरपेक्ष' होना ही देश के लिए नुक़सानदेह साबित हो रहा है…

  8. June 17, 2010 at 11:51 am

    hindu samaj ko doob marne ke liye bhi jagah nahi bachne waali.

  9. June 17, 2010 at 11:52 am

    hindu samaj ko doob marne ke liye bhi jagah nahi bachne waali.


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: