>एकतंत्र के रास्ते लोकतंत्र- 8 / कराधान

>

8.1              साठ हजार से दो लाख रूपये तक की वार्षिक आय पर क्रमशः 1 से 15 प्रतिशत का व्यक्तिगत आयकर लिया जायेगा (जैसे- साठ हजार पर 1 प्रतिशत, सत्तर हजार पर 2 प्रतिशत, अस्सी हजार पर 3 प्रतिशत……. इसी प्रकार); जबकि दो लाख रूपये से अधिक की वार्षिक आय पर 15 प्रतिशत का आयकर स्थिर कर दिया जायेगा.
8.2              इसी प्रकार, छ्ह लाख से बीस लाख रूपये तक के वार्षिक लाभ पर क्रमशः 1 से 15 प्रतिशत का कम्पनी/निगम कर लिया जायेगा और बीस लाख रूपये से अधिक के वार्षिक लाभ पर 15 प्रतिशत का कम्पनी/निगम कर स्थिर कर दिया जायेगा.
8.3              शेयरों की खरीद-बिक्री पर 0.25 प्रतिशत, तथा कम्पनियों के टर्नओवर पर 0.001 प्रतिशत के- दो नये कर लगाये जायेंगे.
8.4              एक करोड़ और इससे अधिक की चल-अचल सम्पत्ति पर 1 प्रतिशत पँचवार्षिक (यानि पाँच वर्षों में एक बार) सम्पत्ति कर लिया जायेगा.
8.5              जोतों के उपजाऊपन के आधार पर 1 से 5 रुपये प्रति एकड़ की दर से वार्षिक भू-लगान निर्धारित किया जायेगा और एक एकड़ से छोटी जोत को लगान मुक्त रखा जायेगा. (कृषि भूमि के वर्गीकरण आदि का जिक्र कृषि के अन्तर्गत किया जा रहा है.)
8.6              छ्ह एकड़ से बड़ी जोत को सम्पत्तिकर के दायरे में तथा इससे होने वाली कृषि आय को आयकर के दायरे में लाया जायेगा.
8.7              आयकर, सम्पत्तिकर तथा भू-लगान के मामलों में एक ओर संयुक्त परिवारों को छूट दी जायेगी, तो दूसरी तरफ सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, कल्याणकारी संस्थाओं, ट्रस्टों इत्यादि को इनके दायरे मे लाया जायेगा.
8.8              आयकर, कम्पनी/निगम कर तथा सम्पत्तिकर के रुप में सरकार को (बिना किसी वंचना के) सर्वाधिक कर देने वाले एक सौ एक व्यक्ति/कम्पनी/निगमों को कुबेरश्री की उपाधि प्रदान की जायेगी, इनकी बाकायदे एक संस्था बनायी जायेगी, जिससे जरुरत पड़ने पर सरकार आर्थिक मदद भी लेगी; मगर साथ ही, सर्वोच्च न्यायालय को यह अधिकार दिया जायेगा कि जैसे ही वह यह महसूस करे कि यह संस्था सरकार की नीतियों को प्रभावित कर रही है- वह इस संस्था को भंग कर दे.
8.9              प्रदूषण फैलाने वाली औद्योगिक इकाईयों पर, प्रदूषण फैलाने वाले उपकरणों के निर्माण पर और प्रदूषण फैलाने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं पर प्रदूषण शुल्क लगाया जायेगा. (हालाँकि उद्योगों में प्रदूषण नियंत्रण तथा प्रदूषण फैलाने वाली वस्तुओं के बदले प्रकृतिमित्र विकल्पों की व्यवस्था का जिक्र आगे किया जा रहा है.)
राष्ट्रीय बैंक
8.10          राष्ट्रीय सरकार एक राष्ट्रीय बैंक का गठन करेगी, जिसकी विशेषता निम्नलिखित होगी-
            क) यह मुनाफे के स्थान पर देश के सामाजार्थिक उत्थान को प्राथमिकता देगी.
ख) इसकी छोटी शाखाएँ प्रत्येक पँचायत और वार्ड में; मँझली शाखाएँ प्रखण्ड, नगर और उपमहानगर में, और बड़ी शाखाएँ जिला और महानगर में होंगी. (अध्याय 14 द्रष्टव्य)
ग) इसके प्रशासनिक कार्यालय राज्य, अँचल और राष्ट्रीय स्तर पर होंगे.
घ) यहाँ जमा राशि पर निम्न वार्षिक दर से ब्याज दिया जायेगा: 1 हजार से कम पर 15 प्रतिशत, 10 हजार से कम पर 12 प्रतिशत, 1 लाख से कम पर 9 प्रतिशत, 10 लाख से कम पर 6 प्रतिशत, 1 करोड़ से कम पर 3 प्रतिशत और 10 करोड़ से कम पर 1 प्रतिशत.
ङ) 10 करोड़ से अधिक की जमा राशि पर कोई ब्याज नहीं दिया जायेगा, जबकि 100 करोड़ से अधिक की जमा राशि पर ब्याज देने के बजाय ब्याज लेने पर विचार किया जायेगा.
च) यहाँ से निम्न वार्षिक ब्याज दरों पर ऋण उपलब्ध कराये जायेंगे- 10 हजार से कम राशि पर 1 प्रतिशत (छोटी शाखाओं द्वारा), 1 लाख से कम राशि पर 3 प्रतिशत (मँझली शाखाओं द्वारा), 10 लाख से कम राशि पर 6 प्रतिशत (बड़ी शाखाओं द्वारा), 1 करोड़ से कम राशि पर 9 प्रतिशत (राज्य प्रशासनिक कार्यालय द्वारा), 10 करोड़ से कम राशि पर 12 प्रतिशत (अँचल प्रशासनिक कार्यालय द्वारा) और इससे बड़ी राशि पर 15 प्रतिशत (राष्ट्रीय प्रशासनिक कार्यालय द्वारा).
छ) 1 हजार से कम के ऋण पर कोई ब्याज नहीं लिया जायेगा; या, ग्राहक अपने खाते से जाने-अनजाने में 999/- तक की राशि निकाल कर बाद में वापस जमा कर सकेंगे, जिसपर कोई शुल्क नहीं लगेगा.      
ज) इस बैंक में अलग से खाता संख्या नहीं दी जायेगी, बल्कि नागरिक पहचानपत्र (अध्याय: 44) की संख्या को ही खाता संख्या माना जायेगा.
————————
सम्पूर्ण घोषणापत्र के लिए : http://khushhalbharat.blogspot.com/  
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: