>कामगार : आज और कल

>पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार कल १० मई को युवा संवाद , ग्वालियर ने होटल एम्बेसडर में कामगार : कल और आज विषय पर एक “खुली बहस ” का आयोजन किया।
इस बहस में भागीदारी के लिए एटक, सीटू, गुक्टू, आल इंडिया लायर्स एसोसिएसन, नगर निगम सफाई कर्मचारी मोर्चा , आडिट एंड एकाउंट्स एसोसिएसन, मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव एसोसिएशन, स्त्री अधिकार संगठन , रेलवे मेंस एसोसिएशन सहित अनेक संगठनो के प्रतिनिधि शरीक हुए।
बहस के लिए तीन प्रमुख प्रश्न निर्धारित थे
१ क्या ट्रेड यूनियन आन्दोलन और व्यवस्था परिवर्तन के व्यापक संघर्ष के बीच की कडी कमज़ोर हुई है?
२ ट्रेड यूनियन आन्दोलन व्हाइट कालर कामगारों और असंगठित कामगारों तक क्यों नही पहुँच पा रहा है?
३ ऐसा तो नही कि बदलते समय के साथ पूंजीवाद के बदलते परिदृश्य के अनुरूप यह स्वयँ को ढालने मे असमर्थ रहा है। फ़िर इसका भविष्य क्या है?
जैसा कि स्वाभाविक ही था, आरम्भ मे मुख्य ट्रेड युनियनो के प्रतिनिधियों के लिये यह काफ़ी असुविधाजनक सवाल बने। नगर निगम ने इसे यह कहकर और भडका दिया कि पार्टियों से जुडे युनियन भ्रष्ट तथा अप्रासन्गिक हो गये हैं । आरोप प्रत्यारोप भी हुए और कहा गया कि अब भी हम लाखों की भीड जुटा लेते हैं … आधा गिलास भरा है तो युवा सम्वाद के अजय गुलाटी का कहना था कि यह लाखों की भीड वोटों में भी तो नही बदल पाती…गिलास पहले दो तिहाई भरा था अब रोज़ खाली हो रहा है। हम क्यों नहीं अपने ट्रेड युनियनो को अर्थवाद के दायरे से बाहर निकाल इस लायक बना पाये कि वे कह सके कि अगर पूंजीपति या सरकार फ़ैक्ट्री चलाने में असमर्थ हैं तो उसे सहकार से हम चला के दिखायेंगे।
गहमागहमी और ग़र्माग़र्मी के बीच सँचालक ने याद दिलाया कि हम दुश्मन नही बल्कि एक मुश्किल वक़्त मे रास्ता तलाशने निकले दोस्त हैं । आलोचना और आत्मालोचना हमारी क्रान्तिकारी सन्स्कृति का हिस्सा हैं । अनुभवी मज़्दूर नेता सतीश गोविला ने विस्तार से बात करते हुए कहा कि यह सच है की भूले हुई हैं और हम पीछे भी गये हैं लेकिन उम्मीद अब भी है …यह आयोजन इस दिशा मे एक महत्वपूर्ण कदम है…यही स्वर एटक के अध्यक्ष कामरेड वृष्भान और आल इण्डिया लायर्स एसोसिएशन के गुरुदत्त शर्मा का भी था।
अन्त मे निर्णाय लिया गया कि इस प्रक्रिया को ज़ारी रखा जाये और भविष्य मे हमारे समय के समाजवाद पर एक बडी परिचर्चा करायी जाये तथा शहर मे मिलजुल कर एक ” कामगार जोडो अभियान ” चलाया जाय।

Advertisements

>कामगार : कल और आज

>

कामगार : कल और आज
युवा संवाद, ग्वालियर द्वारा आयोजित परिचर्चा
१० मई,रविवार
9425787930