>अब हमारी मिठाइयां उनके निशाने पर!!!!!

>

इस दिवाली पर उन्होंने हमारी मिठाइयों को निशाना बनाया है!जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ बहुराष्ट्रीय कम्पनियों की !दिवाली से ठीक पहले उन्होंने नकली घी,मावा और मिठाइयों का प्रचार शुरू कर दिया है!ये सब बहुत ही .सुनियोजित…ढंग से किया जा रहा है!भारतीय .संस्कृति में मिठाई का बहुत अधिक महत्त्व है ,सो इसलिए इसे ही निशाना बनाया गया है!ये कम्पनियां चाहती है की मिठाई को हटा कर इसके स्थान पर चोकलेट को लाया जाए!इसके लिए जहाँ एक .और…मिठाई के खिलाफ वातावरण बनाया जा रहा है,वहीँ चोकलेट को स्थापित करने की तैयारी हो रही है!आपने एक विज्ञापन तो देखा होगा…आज पहली तारीख है ..कुछ मीठा है खाना,आज पहली तारीख है!!!!!अब आप ही बताइए..कौन है जो पहली तारीख को चोकलेट खायेगा!खायेगा क्यूँ?हमारे यहाँ तो तनख्वाह मिलने पर मिठाई लाकर भगवान् को चढाई जाती है!लेकिन ये कम्पनियां चोकलेट को मिठाई का दर्जा देने पर आमादा है!इसीलिए मिठाइयों को गरिष्ठ ,मिलावटी,गन्दी और बीमारिया फैलाने वाली बताया जा रहा है!इसलिए भारत के लोगों और व्यापारियों को भी सावधान हो जाना चाहिए!दिवाली पर पटाखे और धार्मिक चित्र पहले ही चीन से आ चुकें है!अब हो सकता है चीनी चोकलेट भी आ जाए!!!!.kripya…….ध्यान दीजिये मिठाई हमारा परम्परागत व्यंजन है,इससे लाखों लोगों का भविष्य जुदा हुआ है!मिठाई से कोई बीमारी नहीं होती!अब तो शुगर .फ्री मिठाइयां भी उपलब्ध है!चिंता छोडिये और मिठाइयां खाइए !!!!
Advertisements