२६ जनवरी

भाईयों और बहनों,
२६ जनवरी के इस पावन मौके पर मैने भी श्री रवि रतलामी और अन्य ब्लोगरों से प्रेरणा लेकर अपना एक ब्लोग पेज आरम्भ करने की कोशिश की है. मुझ अग्यानी को फ़ूलने / पकने और टपकने मे अभी थोडा वक्त लगेगा… लेकिन मुझे विश्वास है कि मैं शीघ्र ही इस विधा को जानने – समझने लगूँगा… आखिर आप विद्वान लोगों का साथ भी तो मुझे मिलेगा ना….फ़िर डरने की क्या बात है… बस दिल की भडास निकालने का इससे अच्छा और क्या साधन हो सकता है…. अभी इतना ही… देखूँ तो सही ब्लोग पर यह कैसा दिखता है….

>२६ जनवरी

>भाईयों और बहनों,
२६ जनवरी के इस पावन मौके पर मैने भी श्री रवि रतलामी और अन्य ब्लोगरों से प्रेरणा लेकर अपना एक ब्लोग पेज आरम्भ करने की कोशिश की है. मुझ अग्यानी को फ़ूलने / पकने और टपकने मे अभी थोडा वक्त लगेगा… लेकिन मुझे विश्वास है कि मैं शीघ्र ही इस विधा को जानने – समझने लगूँगा… आखिर आप विद्वान लोगों का साथ भी तो मुझे मिलेगा ना….फ़िर डरने की क्या बात है… बस दिल की भडास निकालने का इससे अच्छा और क्या साधन हो सकता है…. अभी इतना ही… देखूँ तो सही ब्लोग पर यह कैसा दिखता है….