>अमल Work is worship

>

अल्लामा इक़बाल ने  कहा है कि

अमल से बनती है जन्नत भी जहन्नम भी
ये ख़ाकी अपनी फ़ितरत में न नूरी है न नारी है

Advertisements